Theme images by MichaelJay. Powered by Blogger.

Search This Blog

random posts

randomposts1

recent posts

recentposts2
Responsive Ad Spot

recent posts

recentposts1

business

[business][bsummary]

technology

[technology][twocolumns]

Popular Posts

cars
[recent]

vehicles

[cars][grids]

health

[health][bleft]
technology
latest news
The sonu singh Now Shoot your all Problem's

Kick your old thought's

मुफ़्त पोस्ट ई-अधिसूचना के लिए सदस्यता लें

Portfolio


Main Blog
Our Recent Posts

Friday, 15 February 2019

शहीदों को कैसे मिले सच्चा न्याय

How do the martyrs get true justice



क्या आप जानना चाहते है ? ......
  • वीर जवानों की क्या क्या जिम्मेदारियां होती हैं ?
  • क्या वीर जवानों के शहीद हो जाने के बाद उनके परिवार को वही इज्जत और सुविधाएँ दी जाती हैं ?
  • क्या क्या सुविधाएँ और शक्ति दी जानी चाहिए वीर जवानों को ?
यदि ऊपर दिए गए किसी भी प्रश्न के लिए आपका उत्तर हाँ है, जिसके बारे में आप जानना चाहते हैं तो, यह आर्टिकल "शहीदों को कैसे मिले सच्चा न्याय" आपके लिए ही लिखा गया है, आज इस आर्टिकल के दुआरा आप "शहीदों" से जुडी सभी महत्वपूर्ण बातों को जन पायेंगें.
अगर आप अपने देश के वीर जवानों की जन्दगी को बेहतर बनाना  चाहते हैं तो उसके लिए जानिए ये बाते, जो आपके लिए बगुत जरुरी है .....   
जानने के लिए पढ़ते रहिये आज का हमारा यह आर्टिकल "शहीदों को कैसे मिले सच्चा न्याय" तो कृपया ध्यान से पढ़ें और अपनी रे जरुर दें.

How do the martyrs get true justice

नमस्कार मेरा नाम है सोनू सिंह छूरिया और स्वागत है आपका "The sonu singh" problem shooter  में जहाँ जानने वाले है "शहीदों को कैसे मिले सच्चा न्याय" तो देर न करते हुए आइये शुरू करते है आज के Topic को )

 वीर जवानों की क्या क्या जिम्मेदारियां होती हैं

  • वीर जवान देश का वो इंसान होता है जिसकी वजह से पूरा देश चैन की साँस लेता है, हर कोई आराम से अपने परिवार में रहता है सिवाय वीर जवान के, क्योंकि वो ऐसा नहीं कर सकते. अगर सैनिक अपने घर में रहने लगेंगे तो बाकि सब को मुसीबतों का सामना करना पड़ेगा जोकि किसी भी देश के लिए अछि बात नहीं.
  • हमारे सैनिक हर हाल में देश की सरहद पर तैनात रहते हैं, चाहे परिस्थिति कैसी भी हो.
  • उनकी सबसे बड़ी जिम्मेदारी यह होती है की देश में कोई भी गलत काम न हो, कोई आतंकवादी हमरे देश में ना घुस आये 
  • देशवासियों को सुरक्षित रखना और देश में अमन कायम करना.

  क्या वीर जवानों के शहीद हो जाने के बाद उनके परिवार को वही इज्जत और सुविधाएँ दी जाती हैं

  • अक्सर यह देखा जाता है कि जब तक जवान हमारे बिच में रहते हैं तब तक तो उनकी और उनके परिवार की बहुत इज्जत की जाती है, लेकिन सैनिक के शहीद हो जाने के बाद कुछ दिन तो उन्हें याद् किया जाता है पर उसके बाद उन्हें ऐसे भुला दिया जाता है जैसे वो कभी सैनिक ही नहीं थे.
  • कई बार तो शहीद जवानों के परिवार वाले शहीद को मिलने वाली पेंशन के लिए भी महीनो भटकते हैं.

 क्या क्या सुविधाएँ और शक्ति दी जानी चाहिए वीर जवानों को

  • देश के सैनिकों को मौके पर कोई भी निर्णय लेने का अधिकार हो.
  • अपनी जरुरत के हिसाब से किसी भी चीज की मुह खोल कर मांग कर सकें. और वो वस्तु या पदार्थ उन्हें मिलना भी चाहिए.
  • किसी भी देश के सबसे महत्वपूर्ण २ ही नाम है...... किसान और जवान. और दोनों को ही वो सारी सुविधाएँ मिलनी चाहिए, जिसे पाने की हर कोई चाह रखता है.
  • किसी भी जवान के शहीद हो जाने पर देश की सरकार को शहीद के परिवार की पूरी जिम्मेदारी उठानी चाहिए ना की २-४ लाख रूपये देकर शहीद की जान की कीमत अदा करनी चाहिए.
  • हर उस मौके पर शहीद के परिवार वालों को बुलाना चाहिए जहाँ शहीद को होना चाहिए था.
निष्कर्ष - 
  • यह थे मेरी तरफ से कुछ सुझाव, अब आप क्या चाहते है जो वीर जवानों के लिए होना चाहिए. comment करके जरुर बताये.
नोट -
  • अगर आपको हमारा यह आर्टिकल "शहीदों को कैसे मिले सच्चा न्याय" अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों में शेयर जरुर करें.
  • अगर आपके पास इस आर्टिकल "शहीदों को कैसे मिले सच्चा न्याय" से सम्बंधित कोई शिकायत या सुझाव है तो comment करके जरुर बताएं. 
thanks for visit here ................. जय हिन्द, वन्दे मातरम. 

Sunday, 20 January 2019

60 English Speaking Sentences, know in Hindi

अंग्रेजी बोलने वाले 60 वाक्य 

इंग्लिश के शब्दों से जुड़े कुछ ऐसे सवाल, जिसके बारे में आज आप सब कुछ जानने वाले है  ......

  • इंग्लिश ना बोल पाने के क्या हैं कारण ?
  • कैसे करें इंग्लिश बोलने की शुरुआत ?
  • ENGLISH को INCREASE और PERSONALITY को IMPROVE कैसे करें ?
  • 60 English के शब्द कौन से हैं ?


दोस्तों, वैसे तो इंग्लिश बोलना सिखने के लिए आपको बहुत सारे ARTICLE और SENTENCES मिल जायेंगे, क्यूंकि ENGLISH बोलना अब NORMAL बात हो गयी है. ज्यादातर लोग ENGLISH का USE करने लगे है, अगर आप भी ENGLISH बोलना चाहते है तो आज हम आपके लिए लाये है 60 ENGLISH SPEAKING SENTENCES. जो आपकी ENGLISH को INCREASE और PERSONALITY को IMPROVE करने में आपकी HELP करेंगे. आज हमने जिन SENTENCES को आपके लिए SELECT किया है वो है आपके लिए काफी हद तक BETTER है.

जानिए कोन से है वो SENTENCES, जो आपकी लाइफस्टाइल को IMPROVE कर सकते है ? और इसके साथ साथ जानिए इन SENTENCES को आप कब, कहाँ और कैसे कर सकते है अपनी LIFE में USE ?
60 English Speaking Sentences  / 60 अंग्रेजी बोलने वाले वाक्य
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम है सोनू सिंह छुरिया, और आज आप पढ़ रहे है THE SONU SINGH Blog Site की "60 ENGLISH SPEAKING SENTENCES" BLOG POST.
 
आज की हमारी LIFE में हम सभी चाहते है की हम भी PROFESSIONAL लोगो की तरह ही ENGLISH बोले, लेकिन हमारे पास ENGLISH  के शब्दों की कमी होने के कारन हमे यह बहुत ही मुश्किल लगता है. और हम मन ही मन यह सोच लेते हैं की हम दूसरो की तरह कभी ENGLISH बोल ही नहीं पाएंगे, लेकिन आज मै अपने इस ARTICLE के THROUGH आपकी यह PROBLEM SOLVE करनी की कोशिश कर रहा हूँ.
बिलकुल एक नए इंग्लिश बोलना सिखने वाले रीडर को ध्यान में रखते हुए हमने इन्हें SHORTLIST किया है. बस जरुरत है तो आपको ध्यान से पढने की और अपनी DAILY LIFE में USE करने की आप जैसे जैसे इन्हें अपनी लाइफ में USE करोगे वैसे वैसे ये सेंटेंसेस आपकी जुबान पर SET हो जायेंगे .

आज हम आपको ऐसे ही 60 ऐसे ENGLISH SPEAKING के sentence बता रहे है जिनको अगर हम हिंदी में बोलते है तो किसी और ढंग से बोला जाता है और अगर हम English में बोलते है तो वह हिंदी की वास्तविक अनुवाद नही है, लेकिन जब वो ही sentence अंग्रेज बोलते है तो हम इम्प्रेस हो जाते है.

फॉर एक्साम्प्ले .....
हिंदी में हम बोलते है जैसे की : आग जलती रहने दो !
English में बोलेंगे : keep the fire going !

हिंदी : क्या में सिगरेट पे सकता हूँ?
English : May i smoke ?

तो आइये जानते है उन ६० सेंटेंसेस के बारे में, जो आपकी लाइफ को इमप्रोवे करने वाली है .
आप इन सेंटेंसेस को कहीं नोट करने के बजाय इन्हें अपने मंद में सेट करने की कोशिश करे और अपनी लाइफ में रोजाना उसे करे, बाकी आपकी परक्टिस पर देपंद करता है आप कितनी जल्दी सीखते है क्योंकि ....

Practice Make's a Man Perfect.  --------- कोशिश करने से ही आदमी सफल होता है.

साउंड के साथ बोल बोल कर पढ़िए .......

  1. कोट का बटन बंद कल लो ! --------------------------------   Button up your coat.
  2. बांए हाथ चलो ! ---------------------------------------------   Left.
  3. तुम अपने बारे में बिलकुल लापरवाह हो। ------------------  You are quite careless about yourself.
  4. खुद को सुधार लो ! ------------------------------------------  Mend your ways.
  5. बैठे रहिये ! ---------------------------------------------------  Keep Sitting.
  6. मुस्कुराते रहिये ! --------------------------------------------  Keep Smiling.
  7. जरा सबर तो करो ! ------------------------------------------  Have Patience !
  8. तुम जब देखो कुछ न कुछ उल्टे काम करते रहते हो। ------  You are always up to some mischief.
  9. अपना नाम साफ करो ! -------------------------------------  Blow your noise.
  10. अपने समय का पूरा फायदा लो ! ---------------------------   Make best use of your time.
  11. समय कितनी तेजी से बीतता है ! ---------------------------  How time files.
  12. अच्छे दिन आयेंगे ! ------------------------------------------  Better days will come.
  13. मैं चलूं ?? -----------------------------------------------------  May i leave.
  14. क्या में बती जला दूँ ! ----------------------------------------   May i switch on the light
  15. क्या में बती बुझा दूँ! -----------------------------------------   May i switch off the light.
  16. क्या में सिगरेट पी सकता हूँ. --------------------------------   May i smoke.
  17. क्या आप मुझे अपनी car में ले चलेंगे ! ---------------------  Will You please give me a lift.
  18. आप अपना काम करे ! ---------------------------------------  Do your work.
  19. सिर बचा के ! -------------------------------------------------  Mind your head.
  20. कृपया उसे स्टेशन तक छोड़ आइये ! ------------------------  Please, see him off at railway station.
  21. घुमा फिर के बाते मत करो ! ---------------------------------  Do not beat around the bush.
  22. ख़राब आदतें छोड़ दो ! ---------------------------------------  Give up bad habits.
  23. अपने मेहमानों की सेवा करो ! -------------------------------  Look after your guest.
  24. अपने काम में ध्यान रखो ! ----------------------------------  Mind your own business.
  25. बाकी के खुले पैसे रख लो ! -----------------------------------  Keep the change.
  26. विश्वास रखिये ! ----------------------------------------------  Rest assured.
  27. कोई हर्ज नही ! ------------------------------------------------  It does not matter.
  28. क्या शर्म की बात है. ------------------------------------------  What a shame.
  29. इतना गुस्सा मत करो ! --------------------------------------   Do not loose your temper.
  30. जैसी आपकी इच्छा ! -----------------------------------------   As you please. 
  31. यह दोबारा नही बोलना ! -------------------------------------   Do not utter it again.
  32. दफा हो जाओ ! ------------------------------------------------  Get Lost.
  33. भाड़ में जाओ ! ------------------------------------------------   Go to hell.
  34. में अपनी गलती मानता हूँ ! ----------------------------------   My apology.
  35. आपको शर्म आनी चाहिए ! -----------------------------------   Shame on you !
  36. सूट परेस करवाओ ! -------------------------------------------  Get the suit ironed. 
  37. बाकी सब ठीक है। ---------------------------------------------  Rest everything is fine.
  38. में बहुत थक गया हूँ ! ------------------------------------------  I am very tired.
  39. स्मार्ट फोन धड़ा धड़ बिकते है ! -------------------------------  Smart phones sell like hot cakes.
  40. वह सफलता के नशे मैं चूर है। --------------------------------  You are drunk with success.
  41. रेट कम हो रहे है ! ---------------------------------------------   Prices are falling.
  42. आगे रोड कैसी है। ---------------------------------------------   How is road ahead..
  43. हम आपस में नही बोलते है ! ---------------------------------   We are not on speaking terms.
  44. सड़क मरम्मत के लिए बंद है। -------------------------------    The road is closed for repairing.
  45. हम एक दुसरे के घर आते जाते नही है ! ---------------------    We are not on visiting terms.
  46. उसका बुखार उतर गया है ! ----------------------------------     His fever is down.
  47. दादा जी कुछ ऊँचा सुनते हैं। ----------------------------------    Grand father is hard of hearing.
  48. मुझे फोन पर एक बात करनी है. ------------------------------    I want to make a call.
  49. इस बात पर कोई बात नही हुई ! -------------------------------   This point was not touched.
  50. उसे जमानत पर छोड़ दिया गया है ! --------------------------    He has been released on a bell.
  51. मैं गाना सुन रहा था ! ------------------------------------------    I was listening to music.
  52. दुसरो की बुराई मत करो ! -------------------------------------    Do not speak ill of others.
  53. अपने मतभेदों को भुला दो ! -----------------------------------    Sink your difference.
  54. अपने झगडे निपटाओ !  ---------------------------------------    Patch of your dispute.
  55. आपका मेरा हिसाब बिलकुल साफ़ है ! ------------------------    Now i am square with you.
  56. पैसे से ही पैसा कमाया जा सकता है ! -------------------------     Money begets money.
  57. हॉल में सनाटा है ! ----------------------------------------------    There is pin drop silence in the hall.
  58. चीनी खाना कम करदे ! -----------------------------------------    Cut down on sugar.
  59. आप कब सोते है ! ----------------------------------------------     When do you go to bed.
  60. मैं दुविधा मैं हूँ। -------------------------------------------------      I am in dilemma.

नोट : आपके लिए कुछ सवाल, जरा सोचिये .....!! क्या आपको लगता है की,
  • इंग्लिश बोलने वाले हम से ज्यादा advance होते है ? 
  • क्या हम से ज्यादा intelligent होते है ?
  • क्या हम से ज्यादा talented होते है ? 
आपको अहसास होगा की ऐसा कुछ भी नही है !! BASIC ENGLISH तो हम भी जानते है और वो BASIC ENGLISH के साथ थोडा सा ADVANCE ENGLISH जानते है !! बस इतना ही फर्क है दोनों के बीच में और थोड़ी सी मेहनत  करने के बाद यह DIFFERENCES भी ख़तम हो जायेगा.

"न्यू इंग्लिश स्पीकर की सबसे बड़ी प्रॉब्लम यह है की जब वो कुछ भी इंग्लिश में बोलना चाहते है तो पहले हिंदी में सोचते है उसके बाद उसे मन ही मन इंग्लिश में कन्वर्ट करने की कोशिश करते है , उसके बाद बोलते है लेकिन ऐसा करना गलत है क्योंकि बहुत सारे सेंटेंसेस की हिंदी अलग होती है और इंग्लिश में अलग बोले जाते है".
POST ENDED.

SUGGESTION : English bolna sikhne ke liye always despirate rahe. jaisi bhi english aap bol sakte hai bejhijhak bole, sharm ko tyag de ki koi apke baare me kya sochega.

NOTE :  Ye hai hamari taraf se kuch recommended tips, jinhe aap thodi si mehnat karne ke baad easly bol sakte hai. I hpoe apko hamari "60 English Speaking Sentences" blog post pasand aayi hogi. Iske baare me agar apka koi sawal ya sujhav hai to please hame comment jarur kare. apka feedback jankar hume khushi hogi.  

REQUEST : Agar apke pass koi aisa article ya vichar hai, Jis se logo ki help ho sakti hai, to hame jarur bhejiye. Pasand aane par hum use apke naam or photo ke sath jarur publish karenge.

NECESSARY THING : Hamari "60 English Speaking Sentences / अंग्रेजी बोलने वाले 60 वाक्य" Blog Post ko share jarur kare, taki kisi helpless ki help ho sake.

THANK YOU FOR VISIT HERE !!

Tuesday, 15 January 2019

Top 5 Business Get started today, earn 50,000 to 1 Lakh in the month

आज ही शुरू करें ये 5 काम, महीने में कमाएंगे 50 हजार से 1 लाख तक

पैसे कमाने वाले कामो से जुड़े कुछ ऐसे सवाल, जिसके बारे में आज आप सब कुछ जानने वाले है  ......

  • कौन कौन से काम इस लिस्ट में आते हैं, जिससे आप बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं ?
  • आप यह काम कहाँ से शुरू (घर या ऑफिस) कर सकते है ?
  • कौन सा काम करने में कितना पैसा लगेगा ?
  • बिज़नस को शुरू करने के लिए आपको किस सामान की जरुरत पड़ेगी ?
  • आपके बिज़नस में काम आने वाला सामान कहाँ से और कितने पैसे में मिलेगा ?

यदि ऊपर दिए गए किसी भी प्रश्न के लिए आपका उत्तर हाँ है, जिसके बारे में आप जानना चाहते हैं तो, यह आर्टिकल "Top 5 Business Get started today, earn 50,000 to 1 Lakh in the month" आपके लिए ही लिखा गया है, आज इस आर्टिकल के दुआरा आप "आज ही शुरू करें ये 5 काम, महीने में कमाएंगे 50 हजार से 1 लाख तक" से जुडी सभी महत्वपूर्ण बातों को जान पायेंगें.
अगर आप थोड़ी सी मेहनत करके बहुत सारा profit पाना चाहते हैं तो उसके लिए जानिए ये बाते, जो आपके लिए बगुत जरुरी है ..... 
जानने के लिए पढ़ते रहिये आज का हमारा यह आर्टिकल "Top 5 Business Get started today, earn 50,000 to 1 Lakh in the month"
तो कृपया ध्यान से पढ़ें और अपने जीवन में सभी चरणों का पालन करें और स्थापित करें एक सफल व्यापार .....
आज ही शुरू करें ये काम, महीने में कमाएंगे 50 हजार से 1 लाख तक
अगर आप घर पर खली बैठे हैं या घर पर ही रहकर कोई बिज़नस करने की तलाश में हैं तो, घर बैठे ऐसे कई काम हैं, जिनसे कुछ महीने में एक अच्छी सैलरी के बराबर पैसा कमाया जा सकता है। ज्यादातर लोग बड़े कामों की तरफ ही देखते हैं पर आमतौर पर देखने में आया है कि ऐसे छोटे और बेहद कम खर्च में लगने वाले उद्योगों के बारे में लोगों को कम जानकारी होती है, जिसके चलते वे चाहकर भी कोशिश नहीं कर पाते।

1. CFL, ट्यूब और चोक्स बिज़नस 

हवा पानी के बाद बिजली आज सबसे बड़ी जरूरत है और इत्तेफाक से इसकी कमी भी काफी है। बिजली बचाने के लिए पिछले कुछ सालों में CFL का यूज़ बढ़ा है, ऐसे में इनका निर्माण फायदे का सौदा हो सकता है। इनके साथ सबसे बड़ा यह फायदा है कि  -

  • उपयोग - CFL का बिज़नस सालों  साल चलता है. CFL का यूज़ बिजली बिल को बेहद कम कर देता हैं। इसके साथ ट्यूब और चोक्स की लोकल मार्केट में काफी मांग है।   
  • मार्केट - हर घर में ट्यूब, CFL की जरूरत है। डोर टू डोर मार्केटिंग से मांग और मुनाफा कई गुना बढ़ सकता है। घरों के अलावा इलेक्ट्रिक शॉप्स, स्टेशनरीज़, मॉल, डिपार्टमेंटल स्टोर हर जगह इनकी मांग तेजी से बढ़ रही है। केयोस्क के ज़रिए भी इन्हें बेचना आसान है। 


रॉ मटेरियल, क्या चाहिए - आयरन, सोल्डर, पेस्ट, कटर, कंपसुल, पीसीबी, बोर्ड, सोल्डिंग वायर, स्लीव एल्युमिनियम कॉप, पीवीसी होल्डर व्हाइट, सीमेंट और कॉपर वायर।

मशीनरी - हल्ड एचपी मोटर, हैंड प्रेस, फोर कॉयल वाइंडिंग मशीन, डाइज़ आदि।   यहां क्लिक करें- रॉ मटेरियल कैसे, कहां और कितने का मिलेगा.

कहाँ से मिलेगा सामान  - वैसे तो ये सब आप ऑनलाइन भी खरीद सकते है, लेकिन अगर आपको इसकी अछि जानकारी नहीं है तो किसी ऐसी मार्किट या शॉप से ख़रीदे जो आपको हर बार हर चीज को यूज़ करने में सपोर्ट कर सके .

कितने का मिलेगा  - हाँ इसके लिए मै जरुर कहूँगा कि आप हर जगह ऑनलाइन हो या ऑफलाइन कीमत और वारंटी जरुर चेक कर ले, उसके बाद ही कहीं से खरीदें. 10 से 20 हजार के बिच यह सामान आपको मिल जायेगा.  

2. मिनरल वॉटर/ड्रिंकिंग वॉटर बिज़नस 

पानी की बोतल किसी ने न खरीदी हो, ऐसा शायद ही कोई मिले। सफर के दौरान महज 15 रुपए का शुद्ध पानी खरीदना सबसे आसान विकल्प बन गया है। आज मिनरल वॉटर की मांग हर जगह है। ब्रांडेड कंपनियों के अलावा कई छोटे उद्योग भी इसमें लगे हैं और मुनाफा कमा रहे हैं। यह ऐसा बिजनेस है जिससे आप एक बार इन्वेस्टमेंट कर जिंदगी भर मुनाफा कमा सकते हैं। 
अंतर समझिए-

  • बाजार में मौजूद कंपनियां पैकेज्ड ड्रिंकिंग वॉटर बनाती हैं। लेकिन यह सभी मिनरल वॉटर नहीं होते। शुद्ध पानी के लिए ‘ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड’ यानी BIS ने तय की हुई शर्तें और नियमावली के अनुसार ही पानी की कमर्शियल प्रोडक्शन किया जा सकता है।
  • पैकेज्ड ड्रिंकिंग वॉटर में इंसानी शरीर के लिए हानिकारक साबित होने वाले सभी प्रकार के क्षार कम किए जाते हैं। जैसे कैल्शियम, मैग्नीशियम, क्लोराइड, सल्फेट और क्लोरिन।
  • इनमें से क्लोरिन में शुद्धिकरण प्रक्रिया में पूरी तरह से कम किया जाता है।
  • बाकी क्षार BIS के अनुसार तय मात्रा में कम किया जाता है। 


रॉ मटेरियल क्या चाहिए- पानी (बोरवेल, कुंआ या जहां से भी शुद्ध पानी प्राप्त किया जा सके), प्लास्टिक की ट्रांसपेरेंट बोतलें, कैन और आपकी कंपनी का लेबल।

मशीनरीः आरओ मशीन, सैंड फिल्टर, कार्बन फिल्टर, सॉप्टनर, बोतलें पैकिंग करने वाली मशीनें और सबमर्सिबल पंप आदि।

कहाँ से मिलेगा सामान  - यह सामान आप किसी भी लोकल मार्किट या होल सेलर से बड़ी ही आसानी से खरीद सकते है,

3. कोरूगेटेड बॉक्स (Corrugated box) बिज़नस 

लकड़ी के बॉक्स की तुलना में कोरूगेटेड बॉक्स वजन में काफी हल्के और सस्ते होते हैं। टिकने वाली पैकिंग और सस्ते होने के कारण ये हर छोटी-बड़ी कंपनी की पसंद हैं। फल-सब्जियों से लेकर LED टीवी तक इन्हीं में पैक होती हैं। इनका मार्केट भी काफी अच्छा है। अलग अलग जरूरत और साइज में इन्हें ऑर्डर पर तैयार कराया जाता है। लकड़ी की लुगदी से इन्हें तैयार किया जाता है लेकिन बीस से 25 फीसदी लकड़ी का यूज़ भी किया जाता है।
आप इस बिजनेस को दो तरह से कर सकते हैं -

  • कोरूगेटेड बॉक्स के लिए लगने वाली शीट्स तैयार करके ।
  • तैयार शीट्स खरीदकर सिर्फ बॉक्स असेंबल करके ।


ये थोड़ा बड़ा प्लांट होता है, इसलिए विशेषज्ञों की मदद और सलाह के बाद ही इसे शुरू करना चाहिए। लेकिन आप अगर इस पुट्ठों की तैयार शीट्स लाकर बॉक्स बनाकर बेचना शुरू करें तो काफी आसान होगा। आप इन्हें अलग-अलग डिजाइन और साइज (जैसी मांग हो) में तैयार कर सकते हैं।

मार्केट- जिस तरह तेजी से इनका यूज़ बढ़ा है, मांग भी उतनी ही तेजी से बढ़ी है। बड़ी कंपनियों के अलावा अब फ्लिपकार्ट, अमेजन जैसी कंपनियां भी ऑर्डर देती हैं, तो फल-सब्जियां मार्केट में भेजने के लिए किसान भी।  रॉ मटेरियल- कागज के पुट्ठों से बनाना हो, तो लकड़ी की लुगदी, सरस, इंडस्ट्रीयल यूज़ के लिए आने वाला गोंद और पुट्ठों की शीट्स।

मशीनरी - क्रिशिंग मशीन, स्टीचिंग मशीन, कोरूगेटेड मशीन, स्लेटिंग मशीन, बोर्ड कटर मशीन, शिप प्रोसिंग मशीन, बॉक्स सिलने की मशीन, इलेक्ट्रिक मोटर।

कहाँ से मिलेगा सामान  -  हाँ इसके लिए मै जरुर कहूँगा कि आप हर जगह ऑनलाइन हो या ऑफलाइन कीमत और वारंटी जरुर चेक कर ले, उसके बाद ही कहीं से खरीदें. 10 से 20 हजार के बिच यह सामान आपको मिल जायेगा.  

4. बटन (नॉयलॉन/प्लास्टिक) बिज़नस 

शर्ट, पैंट, हों, बच्चों के कपड़े या महिलाओं के कपड़े हों, उन सब में कहीं न कहीं बटन लगते ही हैं। रेडिमेड कपड़े बनाने वाली कंपनियों के अलावा रिटेल में भी इनकी काफी मांग है। आप इन्हें एक्सपोर्ट भी कर सकते हैं। प्लास्टिक बटन तैयार करने की इलेक्ट्रिक ऑटोमेटिक मशीन से बिजनेस शुरू कर सकते हैं या हैंड मोल्डेड मशीन से छोटे स्तर पर।

  • नॉयलॉन या अक्रेलिक बटन तैयार करने के लिए आप ऑटोमेटिक मशीन का यूज़ कर सकते हैं। 
  • जबकि प्लास्टिक मोल्डिंग मशीन से पीएफ या यूएफ बटन्स तैयार किए जा सकते हैं। 
  • इसी तरह इंजेक्शन मोल्डिंग, कम्प्रेशन मोल्डिंग के ज़रिए प्लास्टिक बटन्स तैयार किए जाते हैं। 


मार्केट - रेडिमेट गारमेंट तैयार करनी वाली फर्म्स व कंपनियां, सिलाई का काम करने वाले कारीगर, फैशन हाउस, फैशन डिजाइनर्स और हर घर में यूज़ होते हैं बटन्स। 

रॉ मटेरियल - नॉयलॉन, अक्रेलिक, पॉलिस्टर, तैयार शीट्स, प्लास्टिक की रंगीन गोलियां, पराफीन हुक्स, PVC रेजीन, फिलर्स, स्टेवलाइज़र, प्लास्टीसाइज़र की जरूरत होती है।

मशीनरी - इंजेक्शन मोल्डिंग मशीन, मल्टी मोल्ड्स, ड्रिलिंग मशीन, हैंडमोल्डेड मशीन, मेटेनेंस के लिए लगने वाले औजार। 

कहाँ से मिलेगा सामान  - वैसे तो ये सब आप ऑनलाइन भी खरीद सकते है, लेकिन अगर आपको इसकी अछि जानकारी नहीं है तो किसी ऐसी मार्किट या शॉप से ख़रीदे जो आपको हर बार हर चीज को यूज़ करने में सपोर्ट कर सके .

कितने का मिलेगा  - हाँ इसके लिए मै जरुर कहूँगा कि आप हर जगह ऑनलाइन हो या ऑफलाइन कीमत और वारंटी जरुर चेक कर ले, उसके बाद ही कहीं से खरीदें. 10 से 20 हजार के बिच यह सामान आपको मिल जायेगा.  

5. Talcum​ Powder बिज़नस 

टैल्कम पाउडर के बारे में सबसे अच्छी बात ये है कि मौसम के साथ ये हमेशा मार्केट और घरों में बने रहते हैं। इनका विकल्प अभी तक कुछ भी नहीं। छोटे बच्चे से लेकर बड़े-बूढ़े, अमीर या गरीब, सभी इसका यूज़ करते हैं।

  • टैल्कम पाउडर बनाने में लगने वाली रॉ मटेरियल में सुगंध मिलाकर पाउडर तैयार हो जाता है, उन्हें आप अलग-अलग साइज के डिब्बों में भरकर लेबलिंग कर मार्केट में बेच सकते हैं। 
  • टैल्कम पाउडर बनाने से पहले आपको ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट 1940 के अनुसार मंजूरी लेनी होगी। 
  • आप किसी एक्सपर्ट से स्पेशल फॉर्मूला तैयार करा सकते हैं।   
मार्केट - हर इंसान टैल्कम पाउडर का ग्राहक है। किराना दुकान, छोटे-बड़े मॉल, कॉस्मेटिक दुकानें, ब्यूटी पार्लर-स्पा, जेंट्स सलून, दवाई की दुकानें, लोकल के डेली मार्केट, सभी जगहों पर टैल्कम पाउडर के खरीदार हैं। डोर टू डोर मार्केटिंग से भी अच्छी कमाई की जा सकती है। 

रॉ मटेरियल - जिस फ्लेवर का टैल्कम पाउडर तैयार करना हो उन फूलों की सुगंध (स्प्रे या लिक्विड फार्म में), टिटनियम डाय ऑक्साइड, जिंक ऑक्साइड, कैल्शियम कार्बोनेट, सोप स्टोन लगेगा।

मशीनरी - ऑटोमेटिक ग्राइंडर, मिक्सर, फिल्टर, पैकिंग मशीन और लेबलिंग मशीन।   यहां क्लिक करें- रॉ मटेरियल कैसे, कहां और कितने का मिलेगा  

कहाँ से मिलेगा सामान  - यह सामान ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों जगह उपलब्ध है आप रेट और वारंटी के साथ साथ कंपनी के प्रोडक्ट का फीडबैक भी चेक करे, उसके बाद ही कोई निर्णय ले.

कितने का मिलेगा  - हाँ इसके लिए मै जरुर कहूँगा कि आप हर जगह ऑनलाइन हो या ऑफलाइन कीमत और वारंटी जरुर चेक कर ले, उसके बाद ही कहीं से खरीदें. 15 से 25 हजार के बिच यह सामान आपको मिल जायेगा.

सुझाव :
  • किसी भी काम को सिर्फ प्रॉफिट के आधार पर न करें, उसमे आपका इंटरेस्ट होना भी जरुरी है. बिना इंटरेस्ट के आप कसी भी काम से बहुत जलदी उब जायेंगे और आपके काम करने की स्पीड भी कम होती चली जाएगी, जिसकी वजह से आपका प्रॉफिट और आपका बिज़नस दोनों ही डाउन हो सकते हैं.
नोट :
  • अगर आप के मन में "Top 5 Business Get started today, earn 50,000 to 1 Lakh in the month" से RELATED कोई सवाल या सुझाव है तो PLEASE हमे COMMENT जरुर करे, आपका FEEDBACK जानकर हमे बेहद ख़ुशी होगी. 
  • अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा और आप चाहते हैं की हम आपके लिए ऐसे आर्टिकल लिखते रहे तो हमारे "आज ही शुरू करें ये 5 काम, महीने में कमाएंगे 50 हजार से 1 लाख तक" आर्टिकल को social media पर शेयर जरुर करें, "".
  • अगर आपके पास कोई आर्टिकल, सवाल या विचार है, जिससे लोगों की मदद हो सकती है, तो उसे हमारे साथ शेयर जरुर करें.
हर नए ARTICLE को पढने के लिए SUBSCRIBE कीजिये "THE SONU SINGH" solution guide को, और पाइए अपने हर सवाल का सही जवाब .
.................... Thanks for visit here.


 

Monday, 24 December 2018

Know, What to Wear With shirt in the Festive Season

जानिए, फेस्टिव सीजन में कुर्ते के साथ क्या पहनें

आपके लिए कुछ ऐसे सवाल, जिनका उत्तर आज आपको मिलने वाला है  ......
  • क्या आप शादी, पार्टी में खुबसूरत दिखना चाहते हैं ?
  • क्या आप ड्रेस और कलर पसंद करने में कंफ्यूज हो जाते हैं ?
  • क्या आप दुसरो से अलग दिखना पसंद करते हैं ?
  • क्या आप एक जैसे लुक को ट्राई करके ऊब गये हैं ?
  • क्या आप दूसरों के लुक को देख कर attract होते हैं ?
अगर आपका जवाब हां है तो "जानिए, फेस्टिव सीजन में कुर्ते के साथ क्या पहनें, जिससे आपका लुक और ज्यादा ब्राइट दिखाई दे" जानने के लिए पढ़ते रहिये आज का यह आर्टिकल, जो आपके लिए ही लिखा गया है. आज आप इस आर्टिकल के दुआरा जन पाएंगे की आप अपने आप को दूसरों दे बेह्टर और स्टायलिश कैसे दिखाएँ.
दोस्तों आपने ड्रेस और अपने लुक को ब्राइट करने और स्टाइलिश दिखने के लिए बहुत सरे आर्टिकल पढ़े होंगे, लेकिन आज हम आपको वो बातें बताने जा रहे है जिन्हें आप शायद नहीं जानते हैं.

तो कृपया ध्यान से पढ़ें और अपने जीवन में सभी चरणों का पालन करें .......

फेस्टिव सीजन में कुर्ते के साथ पायजामा के अलावा और क्या पहन सकते है

नमस्कार मेरा नाम है सोनू सिंह छूरिया और स्वागत है आपका "The sonu singh" solution guide", में जहाँ आज आप जानने वाले है "जानिए, फेस्टिव सीजन में कुर्ते के साथ क्या पहनें" जिससे आपका लुक और ज्यादा ब्राइट दिखाई दे" तो देर न करते हुए आइये शुरू करते है आज के Topic को 


फेस्टिवल सीजन के आते ही तैयारियां जोरों पर शुरू हो जाती हैं. दुर्गा पूजा, करवाचौथ, दीपावली, छठ पूजा और उसके बाद बहुत साडी शादियाँ. यानी कि त्‍योहार और खुशियों का सिलसिला लंबा चलने वाला है. अब त्‍योहार हैं तो सजना-संवरना तो बनता है. 
क्या आपको पता है कि सिर्फ महिलाएं ही नहीं सजतीं, बल्‍कि पुरुष भी सजते हैं. और इसका सारा क्रेडिट बदलते फैशन को जाता है. जी हां, अब वो पहले जैसे दिन नहीं रहे, जब लड़कों को हर बार हर त्‍योहार में सिर्फ कुर्ता-पायजामा पहनकर काम चलाना पड़ता था. अब लड़कों के पास अपने कुर्ते को स्‍टाइल करने के एक से बढ़कर एक ऑप्‍शन हैं. वैसे तो ढेर सारे लोअर्स के ऑप्‍शन मौजूद हैं लेकिन हम यहां पर पहले से Ready to Wear सिले-सिलाए कपड़ों की बात कर रहे हैं. कुर्ते के नीचे इन लोअर्स को पहनना आसान है और सस्‍ता भी.

पहने सिल्‍क धोती 

वैसे तो पुरे देश भर में धोतियों के कई प्रकार मौजूद हैं. लेकिन उन्‍हें खरीदने के लिए आपको किसी राज्‍य विशेष में जाने की जरूरत नहीं है. अगर आप इस बेज कलर की रेडीमेड धोती को अपने किसी ब्राइट कुर्ते के साथ पहनेंगे तो आपका लुक ही बदल जाएगा. आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं.

पटियाला सलवार 

पटियाला सलवार के ऊपर भी कुर्ता बेहद जंचता है. धोती की तुलना में इसे पहनना और कैरी करना भी आसान है. इस पटियाला सलवार को आप पटियाला कुर्ते के साथ पहनेंगे तो मजा आ जाएगा. आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं.

जोधपुरी पैंट्स 

अगर आपके पास प्रिंटेड ब्‍लेजर है तो बस आपका काम हो गया. जी हां, आप इस फेस्टिव सीजन में अपने प्रिंटेड ब्‍लेजर को इस मरून सिल्‍क जोधपुरी पैंट के साथ पहनेंगे तो आपका स्‍टाइल गेम कई गुना बढ़ जाएगा. आप इसे शॉर्ट कुर्ते के साथ भी पहन सकते हैं. आप इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं.

सुझाव 
  • रंग और डिजाईन को पसंद करते समय अपने पर्सनालिटी और स्किन कलर को ध्यान में जरुर रखें.
नोट 
  • अगर आप के मन में इस ARTICLE से RELATED कोई सवाल या सुझाव है तो PLEASE हमे COMMENT जरुर करे, आपका FEEDBACK जानकर हमे ख़ुशी होगी. 
  • आपको हमारा यह ARTICLE कैसा लगा, प्लीज COMMENT करके जरुर बताएं.
  • अगर आप चाहते हैं की हम आपके लिए ऐसे आर्टिकल लिखते रहे तो हमारे आर्टिकल को शेयर जरुर करें, "जानिए, फेस्टिव सीजन में कुर्ते के साथ पायजामा नहीं, पहनिए ये चीजें".
SUBSCRIBE कीजिये "THE SONU SINGH" solution guide को, और पाइए अपने हर सवाल का सही जवाब .

Thanks for visit here ........ !!

Wednesday, 19 December 2018

how to become the perfect career

जानिए,काउंसलिंग के बारे में, कैसे बनेगा सही कैरियर

काउंसलिंग के बारे में आपके दुआरा पूछे जाने कुछ ऐसे सवाल, जिनके आज आपको जवाब मिलने वाले हैं ......
  • क्या और कैसे होती है काउंसलिंग ?
  • कितना फायदा और नुकसान होता है काउंसलिंग से ?
  • कब करानी चाहिए काउंसलिंग ?
  • क्यों जरुरी है काउंसलिंग ?
  • कौन सा करियर रहेगा आपके लिए सही ?
  • प्रोफेशनल कौन्स्लेर्स की महत्वपूर्ण बातें .............

How To Become The Right Career


अगर आप सब यह जानना चाहते है तो पढ़ते रहिये आज का हमारा यह आर्टिकल "जानिए, काउंसलिंग के बारे में, कैसे बनेगा सही कैरियर" जो आपके लिए ही लिखा गया है. आज इस आर्टिकल के दुआरा आप जन पाएंगे की अपने करियर को ऊंचाई तक कैसे ले जाना है. बीएस यह आपकी म्हणत और काम करने के तरीके पर निर्भर करता है.
ध्यान से पढ़िए और बताई गयी सभी बातों का पालन कर अपने करियर को और भी बेह्टर बनायें.

नमस्कार मेरा नाम है सोनू सिंह छुरिया, और स्वागत है आपका "The sonusingh" सलूशन गाइड में. जहाँ आज आप पढ़ रहे हैं  "काउंसलिंग के बारे में, कैसे बनेगा सही कैरियर"

आइये शुरू करते हैं आज का आर्टिकल

काउंसलिंग क्या है, कैसे होती है और उसके क्या लाभ हो सकते हैं, 

नये जिले का रहने वाला नरेंद्र सिंह 12वीं की परीक्षा दे रहा है, पर अभी से उसे यह बेचैनी सता रही है कि कला विषयों से 12वीं करने के बाद उसका भविष्य क्या होगा। वह आईएएस अधिकारी बनना चाहता है, पर यह नहीं जानता कि क्या कला विषयों से पढ़ाई करके वह आईएएस बन सकता है, 

  • यदि बन सकता है तो उसे ग्रेजुएशन में कौन से विषय लेने चाहिए ?
  • क्या उसे आगे की पढ़ाई अंग्रेजी माध्यम से करनी होगी ? 
अभी तक वह हिन्दी माध्यम से ही पढ़ाई करता आया है। नाटे कद का होने के कारण वह अपनी पर्सनेलिटी को लेकर भी काफी परेशान है। अपनी इन्हीं सब परेशानियों के समाधान के लिए उसने एक दिन हिन्दुस्तान अखबार में फोन किया। उसके इतने सवालों के बारे में उसे संतुष्ट करना आसान नहीं था, सो उसे राय दी गई कि वह अपनी काउंसलिंग करवा ले तो सब स्पष्ट हो जाएगा। नरेंद्र काउंसलिंग के नाम से हड़बड़ा गया। दरअसल काउंसलिंग के बारे में उसने पहली बार सुना था। इसकी उसे जानकारी नहीं थी। नरेंद्र की तरह ऐसे अनेक छात्र हैं, जो काउंसलिंग के बारे में बहुत स्पष्ट जानकारी नहीं रखते और इसका फायदा नहीं उठा पाते। काउंसलिंग क्या है और उसका एक छात्र या करियर बनाने वाले के जीवन में क्या महत्व है, इसके बारे में विशेषज्ञों की राय के साथ विस्तार से बता रहे हैं..........

हर व्यक्ति की अपनी एक अलग पहचान होती है। लोग समाज में उसे उसकी पहचान, काबिलियत और उसके हुनर की बदौलत जानते हैं। जिंदगी को मुकाम देने के लिए अक्‍सर देखने में आता है कि युवा सही करियर या पढ़ाई के लिए सही क्षेत्र का चुनाव नहीं कर पाते। इससे उनके अंदर का व्यक्तित्व बाहर नहीं आ पाता। ऐसे में न तो वे अपने करियर और पढ़ाई में सफलता हासिल कर पाते हैं और न ही जिंदगी में संतुष्ट हो पाते हैं। 

मोनालिसा जैसी पेंटिंग बनाने वाले पाबलो पिकासो से किसी ने एक बार पूछ लिया कि आप पेंटर क्यों बने तो पिकासो ने कहा कि मेरी मां ने मुझे कहा था कि अगर तुम सैनिक बनते हो तो तुम जनरल जरूर बनोगे, अगर तुम साधु बनते हो तो तुम पोप जरूर बनोगे, बजाए इसके मैं एक पेंटर बना। 

पिकासो की ये पक्तियां हमें ये सीख देती हैं कि हमें खुद के अंदर छिपी प्रतिभा को पहचानना चाहिए, 

  • (करियर के नाम पर सिर्फ नौकरी करना और रोजी-रोटी कमाना ही जिंदगी नहीं है)

करियर के नाम पर आपका खुद का विकास बहुत जरूरी है, क्योंकि अगर आपका विकास नहीं होगा तो जिस क्षेत्र में आप काम कर रहे हैं, वहां आप एक रुटीन काम ही करते रहेंगे, सफलता कभी आपके कदम नहीं चूमेगी। ऐसे में जिस पेशे में भी आप अपना करियर बनाएं, उसमें जी-तोड़ मेहनत करें। किसी की देखा-देखी या बाजार में प्रचलित करियर के अनुरूप करियर न बनाएं। अगर ऐसा होता तो न तो सचिन तेंदुलकर होते, न एआर रहमान, न आमिर खान और न ही चेतन भगत।

 क्यों जरुरी है काउंसलिंग 

  • काउंसलिंग के माध्यम से किसी भी छात्र में उसके अनुरूप बेहतर विकल्पों को तलाशा जाता है। काउंसलिंग द्वारा छात्रों की क्षमताओं का आकलन, संबंधित क्षेत्र में करियर के विकल्प तलाशना, लॉन्ग टर्म लक्ष्यों और भविष्य का रोडमैप तैयार किया जाता है। 

  • करियर काउंसलर परवीन मल्होत्रा कहती हैं ..... कि अगर गलती से भी आपने गलत करियर या विषय चुन लिया तो आपकी जिंदगी की गाड़ी पटरी पर न तो सरपट दौड़ पाएगी और न ही सफलता आपके हिस्से में आएगी। अगर आपने ऐसा करियर या विषय चुना, जो आपकी पर्सनेलिटी, आपकी रुचि पर फिट बैठता है तो आप उसमें बेहतर करने का हरसंभव प्रयास करेंगे और अगर आपने ऐसा करियर चुन लिया, जो आपने सिर्फ दोस्तों के कहने पर चुना है तो आपकी आधी कामयाबी वहीं से कम हो जाएगी। 


  • डीयू के डिप्टी डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर डॉ. गुरप्रीत सिंह टुटेजा कहते हैं ...... कि करियर काउंसलिंग आवश्यक है। यह आपके दिमाग को फिल्टर करने का काम करती है। प्रमुख बात यह है कि एक बार आप करियर चुनने में भटक गए तो ताउम्र तनाव आप पर हावी रहेगा। करियर में भटकने पर किसी भी छात्र की स्थिति रेगिस्तान में रास्ता भूले मुसाफिर की तरह होती है, जहां उसके सामने दो चुनौतियां होती है-पहली यह कि वह अपना रास्ता तलाशे और दूसरी, तपती धूप में खुद को शिद्दत से जमाए रखे।

कैसे करते हैं काउंसलिंग ?

  • काउंसलिंग के लिए छात्र का एप्टीटय़ूड टेस्ट लिया जाता है। इसके द्वारा छात्र की विश्लेषणात्मक क्षमता, उसकी सोच, विषय पर पकड़ आदि का पता लगाया जाता है।इसके अलावा उसका मनोवैज्ञानिक टेस्ट भी किया जाता है। 

  • करियर काउंसलर रहमान बताते हैं कि ..... एप्टीटय़ूड टेस्ट में यह जांचा जाता है कि  छात्र ने किस विषय के कितने प्रश्नों का उत्तर दिया, उन्हें कैसे हल किया। साथ ही उसनेप्रश्नों को किस आधार पर हल किया है। 
  • करियर काउंसलर हनुमंत सब्बरवाल कहते हैं कि ..... काउंसलिंग के दौरान छात्र-छात्र के रुझान और रुचि को देखा जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि कोई छात्र कहता है कि उसकी एयरोनॉटिकल में रुचि है, लेकिन वह मैथ्स की पढ़ाई नहीं करना चाहता तो ऐसे में सबसे पहले उस क्षेत्र के रुझान के मुताबिक करियर के विकल्प तलाशे जाते हैं। विकल्प देते समय इस बात का भी ध्यान रखा जाता है कि लॉन्ग टर्म में वह छात्र के लिए कैसा है। 
  • स्मार्ट प्रेप के सीईओ नीतेश गुप्ता कहते हैं कि ..... करियर काउंसलिंग के माध्यम से मुख्यत: किसी अभ्यर्थी की रियल लाइफ में काम करने की क्षमता को जांचा जाता है।

ऐसा क्षेत्र जो शोहरत और पैसा दिलाए ?

  • करियर या पढ़ाई के लिए विषय चुनना सिर्फ जीविकोपाजर्न का मसला नहीं है, क्योंकि रोजी-रोटी तो इंसान किसी तरह कमा ही लेगा। पर अगर आप ऐसे काम को अपनाएं, जो आपकी जीविका का स्त्रोत तो बनें ही, साथ ही आपको तरक्की और संतुष्टि भी दे तो ज्यादा बेहतर होगा। 
  • हो सकता है कि आप किन्हीं तीन-चार के अनुरूप फिट बैठते हों, पर यह आपकी काबिलियत है कि आप उनमें से अपने लायक सबसे बेहतर करियर का चुनाव कर सकें और इसमें अगर आप सफल हो गए तो सफलता आपकी रहगुजर होगी। 
  • करियर काउंसलर परवीन मल्होत्र कहती है कि ..... काउंसलिंग के लिए आने वाले छात्र का कॉमन सवाल यही होता है कि कौन-सा करियर या विषय लेने पर उन्हें तरक्की और शोहरत जल्दी मिलेगी।       

सिर्फ एक ही करियर है, जो कि मेरे लिए पूरे तौर पर सही है ?

  • प्रत्येक व्यक्ति की रुचियां अलग-अलग होती हैं। सभी के काम करने का तरीका अलग होता है। ऐसे में हरेक व्यक्ति अपनी रुचि, स्किल के मुताबिक करियर का चयन करने की कोशिश करता है, जो उसे संतुष्टि प्रदान करता हो। 
  • जैसे-जैसे आप बड़े होंगे, आप महसूस करेंगे कि एक से ज्यादा करियर हैं, जो आपके लिए जिंदगी की किसी स्टेज और स्थिति के अनुरूप आपके लिए सही होते हैं। उस क्षेत्र में सफलता तय है, जिसका क्रेज ज्यादा है या ज्यादातर लोग उसे ही अपना रहे हैं
  • अक्‍सर आपके बड़े या परिचित आपको प्रचलित करियर के बारे में सलाह देते रहते हैं, चूंकि उनका उस क्षेत्र से ज्यादा वास्ता नहीं होता, ऐसे में वह आपको ऐसे करियर के बारे में ही बताते हैं, जिसके बारे में उन्होंने काफी सुन रखा है या सुन रहे होते हैं। वहीं अकसर यह भी देखने में आता है कि मेरा दोस्त उस क्षेत्र में जा रहा है तो मैं भी उस क्षेत्र में जाऊं। जो की सही नहीं है।    

अगर मैंने अपना करियर या विषय बदला तो मैं असफल हो जाऊंगा ?

  • बदलाव जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। ऐसा सोचना कि किसी कंपनी में बस मुझे एक नौकरी मिल जाए और उसमें मैं अपनी पूरी उम्र काट दूंगा या फिर मैं साइंस क्षेत्र का हूं, मेरी लॉ में रुचि है, पर लोग  कहते हैं कि साइंस छोड़ी तो फेल हो जाओगे, सही नहीं है। 
  • करियर काउंसलर हनुमंत कहते हैं कि ..... कई बार देखने में आता है कि बारहवीं के बाद एक विषय से दूसरे विषय में जाने पर सफलता बेहतर मिलती है, पर छात्रों के मन में इसे लेकर संशय होता है। वह कहते हैं कि तकनीकी परिदृश्य में आए बदलाव की वजह से पूरे जीवन में प्रत्येक के लिए परिस्थितियों के मुताबिक अलग-अलग करियर होते हैं और इनकी संख्या तीन से चार तक हो सकती है।

मैं मेहनती हूं तो मैं कुछ भी कर सकता हूं ?

  • आप वास्तविकता में जिएं। अपनी सीमाओं को समझों। करियर या विषय का फैसला लेते समय इस बात को जेहन में रखें। उदाहरण के तौर पर आपकी नजर कमजोर है, पर आप पायलट या पुलिस ऑफिसर बनना चाहते हैं। ऐसे में आपकी कड़ी मेहनत का गुण ज्यादा फायदेमंद साबित नहीं होता। और हां, जिंदगी में कुछ सीमाएं होने में बुराई भी नहीं है। 
  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के अध्यापक गंगा सहाय मीणा कहते हैं कि ..... मेहनत हर समस्या का हल होती है, पर करियर या विषय के चुनाव में इस बात को आधार बनाना आपकी तरक्की के प्रतिशत को कम कर देता है।

मैं किसी क्षेत्र या विषय के लिए उपयुक्त हूं, इसका मतलब यह है कि मैं इस क्षेत्र के लिए सबसे बेहतर हूं ?

  • कुछ लोग यह सोचते हैं कि कुछ क्षेत्र उनकी पर्सनेलिटी और स्किल के अनुरूप होते हैं और उसमें वह पूरी तरह से फिट बैठते हैं। सफलता को स्वयं के अनुरूप मापदंड बना कर मापना चाहिए, न कि किसी की सलाह या फिर देखा-देखी। 
  • आपके मुताबिक यह करियर फिट है, इसका पता आप खुद की स्किल और क्षमताओं के आधार पर लगा सकते हैं।

प्राइवेट या सरकारी नौकरी ?

  • करियर काउंसलर एमएच रहमान कहते हैं कि ..... छात्रों का सबसे बड़ा मिथक होता है सरकारी और प्राइवेट जॉब को लेकर। 
  • करियर को लेकर कई छात्र पूरी तरह इस बात के प्रति पक्के होते हैं कि उन्हें सरकारी जॉब नहीं करनी, जबकि कुछ का मानना होता है कि उन्हें प्राइवेट नौकरी नहीं करनी है।

एंट्रेंस है तो मुश्किल ही होगा ?

  • करियर काउंसलर हनुमंत सब्बरवाल कहते हैं कि ..... अमूमन छात्रों में यह धारणा रहती है कि अगर किसी कोर्स में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा ली जा रही है तो वह मुश्किल ही होगी। ऐसे में उनकी नजर में इस तरह की परीक्षा की अहमियत काफी बढ़ी हुई होती है।

कुछ अलग करना है ?

  • स्मॉर्ट प्रेप के सीईओ और करियर काउंसलर नीतेश गुप्ता कहते हैं कि ..... मौजूदा समय में छात्रों के अंदर कुछ अलग करने की बात होती है। पर देखने में आता है कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं होती कि उन्हें अलग करना क्या है। 
  • ट्रेंड से हट कर करने की ख्वाहिश उनके मन में होती है, ऐसे में उन पर अपने मजबूत पक्षों को दरकिनार कर कुछ नया करने की धुन सवार रहती है।

नंबर जिसमें अच्छे, उसमें करियर बेहतर ?

  • करियर चुनते समय सबसे आम धारणा यही होती है कि मेरे इस विषय में अंक अच्छे हैं तो इसमें करियर अपनाऊंगा। 
  • नीतेश कहते हैं कि ..... इस आधार पर करियर का चुनाव करना और उसमें सफलता हासिल करने का प्रतिशत 50-50 होता है।

दोस्त चुन रहे हैं अमुक करियर ?

  • हनुमंत सब्बरवाल कहते हैं कि ..... काउंसलिंग में आने वाले छात्र उस करियर को ही अपनाने पर अधिक जोर देते हैं, जिसे उनके दोस्त अपना रहे होते हैं। उस दौरान छात्र अपने मजबूत और कमजोर पक्ष को नहीं देखते, बल्कि वह भावनात्मक रूप से फैसला करते हैं। 
  • रहमान कहते हैं कि ..... प्रमुख बात यह है कि पारिवारिक पेशे को अपनाने में छात्रों का कांसेप्ट पूरी तरह स्पष्ट होता है। वे पारिवारिक करियर को अपनाने या नहीं अपनाने के लिए सटीक सोच रखते हैं।

काउंसलिंग के फायदे .....

  • विकल्पों के बारे में जानकारी: मौजूदा समय में करियर के ढेरों विकल्प हैं। विभिन्न क्षेत्रों में स्पेशलाइजेशन की भरमार है। ऐसे में छात्रों को उनके क्षेत्र से जुड़े स्पेशलाइजेशन, विकल्पों के बारे में जानकारी देने में काउंसलिंग काफी अहम साबित होती है। 

  • दीर्घकालिक लक्ष्य: काउंसलिंग छात्रों के लक्ष्य को दीर्घकालिक बनाने में मददगार साबित होती है। स्मार्ट प्रेप के सीईओ नीतेश गुप्ता कहते हैं कि ..... अमूमन छात्र करियर या कोर्स के बारे में तय करते समय दीर्घकालिक लक्ष्यों के बारे में गौर नहीं करते, वे करियर के बारे में शॉर्ट टर्म एप्रोच रखते हैं। ऐसे में काउंसलिंग की मदद से उनके भविष्य का रोडमैप तैयार किया जाता है।
  • सोच में स्पष्टता: दिल्ली विश्वविद्यालय के डिप्टी डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर डॉ. गुरप्रीत सिंह टुटेजा कहते हैं कि ..... कुछ छात्रों के मन में इस बात को लेकर तो स्पष्टता होती है कि उन्हें अमुक क्षेत्र या कोर्स लेना है, पर उनके एक या दो संदेह उनका करियर खराब कर देते हैं। उदाहरण के तौर पर यदि कॉमर्स में पढ़ाई करने वाला छात्र एमबीए या सीए में से एक करियर चुनने की बात करे, उस दौरान काउंसलिंग उसकी सोच से उसके असमंजस को दूर करने में मददगार होती है।

  • प्रत्येक व्यक्ति की अपनी खासियत और स्वभाव होता है। यहां तक कि जुड़वां बच्चों के भी स्वभाव अलग-अलग होते हैं। ऐसे में करियर और विषय चुनते समय अपनी रुचि, पर्सनेलिटी और टेंपरामेंट का खासतौर पर ध्यान रखें, क्योंकि ये कोई अल्पकालिक प्रक्रिया नहीं है।
परवीन मल्होत्रा, करियर काउंसलर
  • सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता, खासकर करियर और विषय के चुनाव में। ऐसे में काउंसलिंग किसी भी छात्र के भविष्य का रोडमैप तैयार करने में सबसे ज्यादा असरदार होती है। वह छात्र को उधेड़बुन से बाहर निकालती है और सोच को सटीक बनाती है।
हनुमंत सब्बरवाल, करियर काउंसलर
  • मौजूदा समय में करियर के हजारों विकल्प हैं। इनमें से कुछ करियर ऐसे हैं, जो आने वाले समय में बड़े करियर के तौर पर स्थापित होने जा रहे हैं तो कुछ ऐसे होते हैं, जिनकी समयावधि छोटी होती है। ऐसे में काउंसलर से सलाह लेकर करियर की गुत्थी सुलझाई जा सकती है।
नीतेश गुप्ता, करियर काउंसलर और सीईओ स्मार्ट प्रेप
  • करियर काउंसलिंग दिमाग की उलझन कम कर देती है। यह आपको आपके लक्ष्य को हासिल करने में मदद करती है। गलत करियर का चुनाव ताउम्र आपके लिए तनाव का कारण बन जाता है। उस दौरान किसी की स्थिति रेगिस्तान में फंसे हुए मुसाफिर की तरह हो जाती है।
डॉ. गुरप्रीत सिंह टुटेजा, डिप्टी डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर, दिल्ली विश्वविद्यालय
  • करियर जिंदगी का सबसे अहम फैसला होता है। ऐसे में इसका चुनाव करते समय सावधानी बरतनी चाहिए। प्रमुख बात यह भी है कि करियर काउंसलर आपके सामने करियर के विकल्प रखता है। अंतिम फैसला छात्र का ही होता है कि उसे कौन सा करियर चुनना है।
सुझाव
  • अपने आप में खुद की पहचान को तराशें, पहचाने की आपको किस काम को करने में समय की भी परवाह नहीं रहती है. ऐसा करने से आप अपने लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर सकते है.
नोट 
  • अगर आप के मन में इस ARTICLE से RELATED कोई सवाल या सुझाव है तो PLEASE हमे COMMENT जरुर करे, आपका FEEDBACK जानकर हमे ख़ुशी होगी. 
  • आपको हमारा यह ARTICLE "जानिए, काउंसलिंग के बारे में, कैसे बनेगा सही कैरियर" कैसा लगा, प्लीज COMMENT करके जरुर बताएं.
  • अगर आप चाहते हैं की हम आपके लिए ऐसे आर्टिकल लिखते रहे तो हमारे आर्टिकल को शेयर जरुर करें.
SUBSCRIBE कीजिये "THE SONU SINGH" solution guide को, और पाइए अपने हर सवाल का सही जवाब .
.......................................THANK'S FOR VISIT HERE.

Tuesday, 18 December 2018

How To Do Advertising in free of cost

फ्री में कैसे करें विज्ञापन

आपके दुआरा पूछे जाने वाले कुछ ऐसे सवाल, जिनका उत्तर आज आपको मिलने वाला है  ........ 

  • क्या और कैसे होता है विज्ञापन ?
  • क्या जरूरी है विज्ञापन के लिए ?
  • कैसे फायदा और नुक्सान होता है विज्ञापन से ?
  • कहाँ से करें विज्ञापन की शुरुआत ?
  • क्या अंतर होता है सही और गलत विज्ञापन में ?
  • मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें ?
  • अपने व्यवसाय, प्रोडक्ट और सर्विस को कैसे बढ़ावा दें ?

How To Do Advertising in free of cost / मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें
How To Do Advertising in free of cost / मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें


अगर आप ये सब जानना चाहते है तो पढ़ते रहिये आज का हमारा यह आर्टिकल "How To Do Advertising in free of Cost/ मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें" जो आपको दिलाएगा विज्ञापन में आने वाली सभी समस्या से छुटकारा, बस यह आपकी मेहनत और काम करने के तरीके पर निर्भर करता है. इसके लिए अपने आपको मजबूत और समझदार बनायें.
ध्यान से पढ़ें आज का यह आर्टिकल, और अपने जीवन में सभी चरणों का पालन कर अपने व्यवसाय को स्थापित करें .....
आज हम आपसे इस आर्टिकल में ऑनलाइन विज्ञापन के साथ – साथ ऑफलाइन विज्ञापन के बारें में भी बात करेंगे जो बहुत ही कम खर्च में संभव है.
नमस्कार मेरा नाम है सोनू सिंह छूरिया और स्वागत है आपका "The sonu singh" solution guide में, जहाँ आज आप "How To Do Advertising in free of cost / मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें" सिखने वाले है , तो देर न करते हुए आइये शुरू करते है आज के Topic को .

क्या और कैसे होता है विज्ञापन 

आपके व्यापर, सर्विस या किसी प्रोडक्ट को, कस्टमर को बताने की प्रक्रिया को विज्ञापन कहते हैं. यह कई प्रकार से होता है, जैसे टीवी, बोर्ड, बैनर, पम्पलेट, होर्डिंग, रेडियो, कार्ड, आदि दुआरा किया जाता है. इसका सीधा सा मतलब होता है, कस्टमर के दिमाग में अपने व्यापर, सर्विस या प्रोडक्ट को बेह्टर से बेह्टर दिखाना.

क्या जरूरी है विज्ञापन के लिए ?

विज्ञापन के लिए सबसे जरुरी है विज्ञापन का डिजाईन और उस पर लिखी गयी सर्विस सुविधाएँ. अगर आप की सुविधाएँ बेह्टर हैं और आप के विज्ञापन का डिजाईन अच्छा है, तो कस्टमर आप के व्यापर, सर्विस या प्रोडक्ट की और आकर्षक जरुर होगा.

क्या फायदा और नुक्सान होता है विज्ञापन से ?

देखा जाये तो विज्ञापन से फायदा ही होता है, इसका कोई नुकसान नहीं है, मगर ध्यान रहे बिना किसी तैयारी के विज्ञापन करना गलत है. अगर आप अपने व्यापर, सर्विस या प्रोडक्ट को लेकर तैयार नही हैं तो उसका विज्ञापन भी न करें. ऐसा करने से आपका नुकसान हो सकता है, क्योंकि अगर कस्टमर तक आपकी सर्विस नही पहुंचेगी तो वो आपको फर्जी/ झूठा समझ लेते हैं और भविष्य में आप से कोई भी संबंध रखना नही चाहेंगे.

कहाँ से करें विज्ञापन की शुरुआत ?

सबसे पहले विज्ञापन की शुरुआत अपने लोकल एरिया से करें, अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को बताएं. ऐसा करने से आपको अपनी सर्विस और प्रोडक्ट का फीडबैक मिलेगा. जिससे आप उसमे आने वाली परेशानियों को दूर कर सकते हैं. अगर आप अपनी सर्विस या प्रोडक्ट को लेकर लोकल एरिया में सफल होते हैं तो उसके बाद अपनी पहुँच और विज्ञापन को दुसरे एरिया में फैलाना शुरू करें.

क्या अंतर होता है सही और गलत विज्ञापन में ?

क्या आप को पता है की विज्ञापन दो प्रकार के होते हैं, १ सही और २ गलत. दोनों में अंतर .....

  • १. जो विज्ञापन  बिना प्लानिंग के किया जाता है वो गलत विज्ञापन की लिस्ट में आता है, क्योंकि उसमे बहुत सी बाते हम कस्टमर को नहीं बता पातें हैं. जिनका ध्यान हमे पूरी तैयारी करने के बाद में आता है. ऐसे में विज्ञापन में होने वाला खर्च बेकार सा लगने लगता है.
  • २. पूरी तियारी के साथ किया जाना वाला विज्ञापन सही विज्ञापन की लिस्ट में आता है, क्योंकि इसमें हम वो सब सुविधाएँ दरशाते हैं जो कस्टमर को हमारी तरफ आकर्षित करता है, और एक बेह्टर परिणाम देता है.

 मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें ?

जानने से पहले ये समझना बहुत जरुरी है की जिंदगी में मुफ्त कुछ नहीं मिलता है ! लेकिन नीचे बताये गए सभी तरीके से मुफ्त विज्ञापन संभव है. इसके लिए घुमा फिर कर पे करना होता है. ऐसे घुमाने की प्रक्रिया को हम मुफ्त समझते है. क्यूंकि इन्टरनेट की सुविधा लगभग सभी के पास है. और इन्टरनेट उपयोग करने के लिए हमे पैसे देने पड़ते हैं.

अपने व्यवसाय, प्रोडक्ट और सर्विस को कैसे बढ़ावा दें ?

 Store से बाहर की सोचें

  • मैं कई Business Owner से मिल चूका हूँ. सभी का एक ही प्रश्न होता है, कैसे अपने Business को Free में या बहुत कम खर्च कर Promote करें ? यदि देखा जाये तो यह Million Dollar का Question है. Store से बाहर निकल कर देखने पर पता चलेगा Online दुनिया कितनी बड़ी है. Business, Services या Product को Free में Promote करने का सिर्फ और सिर्फ एक ही तरीका है Online Promotion. इसके लिए आपको अपने स्टोर से बहर निकल कर सोचना होगा, लोगो तक अपनी सर्विस की पहुँच बनानी होगी.


Online Network Create करें

  • सभी Popular Social Media Platform पर Account setup करें. उसे Continue Promote करें. Profile और Page का Engagement बढ़ाएं. इसके लिए regular update करें. Update कई तरीके से हो सकता है. जैसे Text Post, High-Quality Image Share, Informational Video Share and many more.


Share Product and Services

  • सभी Popular Social Media Platform पर Product, services और Business Related Information share करें. Related FB Group, Google Plus Group, Pinterest Board में Information share करें. 


Create and Maintain Relationship

  • Social Media पर Clients के साथ Relationship build up करें. हम अक्सर Social Media पर काफी समय बर्बाद कर देते हैं. Daily अपने Profile में Check करें आज किसका Birthday है उसे Wish करें. ऐसा करने से Network बढ़ता है. आपके आने वाले Post को वो Like और Share करेंगे. यदि Paid Promotion की बात करो तो इसके लिए आप Bulk SMS का भी इस्तेमाल कर सकते हो.


Message Reply

  • Social Media message enable रखें. Clients के message का reply जरूर करें. Reply देने से Engagement बढेगा. Brand का trust build up होगा.


Use Free Service of Google

  • Google Local Business
  • Google Brand Page
  • Google Plus
  • Youtube Video


Ebook

  • Business related ebook publish करें जिसमे आपके business से related सभी जानकारी हो. ebook में खुद को प्रमोट नहीं करें बल्कि Product और service related important information share करें. सिर्फ book के bottom में company का नाम और नंबर mention करें. book में एक memorable story भी लिख सकते है. जिससे buyer motivate हो.


Guest Post on Blog

  • Business से Related Blog पर Content publish करें. लगभग सभी Blog Guest Posting Allow करता है. उनसे Contact करें और Guest Post करें.


Feedback

  • Customers से feedback लेते रहें. feedback से आप Product और Services में improvement ला सकते हैं. 


Create Website

  • कई ऐसे Platform है जहाँ free में Website बना सकते हैं. लेकिन यदि आपका Budget allow करता हो तो Self hosted Website बनवा सकते हैं.
SUGGESTION 

  • जो पॉइंट्स आपको अछे लगे सिर्फ उन्हें ही यूज़ करें, बाकि सब में फंस कर समय बर्बाद न करे.
NOTE 

  • अगर आप के मन में इस ARTICLE से RELATED कोई सवाल या सुझाव है तो PLEASE हमे COMMENT जरुर करे, आपका FEEDBACK जानकर हमे ख़ुशी होगी. 
  • आपको हमारा यह ARTICLE "How To Do Advertising in free of cost / मुफ्त में विज्ञापन कैसे करें" कैसा लगा, प्लीज COMMENT करके जरुर बताएं.
  • अगर आप चाहते हैं की हम आपके लिए ऐसे आर्टिकल लिखते रहे तो हमारे आर्टिकल को शेयर जरुर करें,
SUBSCRIBE कीजिये "THE SONU SINGH" solution guide को, और पाइए अपने हर सवाल का सही जवाब .
...............Thanks for visit here  !!


Wednesday, 10 October 2018

how can do the leaders complain

कैसे कर सकते हैं नेताओं की शिकायत 

आपके लिए कुछ सवाल, जिनका आज आपको उत्तर मिलने वाला है  ........
  • क्या आप नेताओं की कार्यप्रणाली को पसंद नहीं करते ?
  • क्या नेता वोट मांगने के लिए गलत तरीके अपनाते है ?
  • किसी नेता को कितना हक है, अपनी बात को जनता के समक्ष रखने का ?
  • अगर कोई नेता किसी नियम को तोड़े तो क्या कर सकते है ?
  • कब, कैसे और कहाँ कर सकते है आप नेताओं की शिकायत ?
अगर आप ये सब जानना चाहते है तो जानने के लिए ध्यान से पढ़िए आज का आर्टिकल "how can do the leaders complain/ जानिए कैसे करें नेताओं की  शिकायत"...........

जानिए, कैसे कर सकते हैं नेताओं की शिकायत ?

नमस्कार मेरा नाम है सोनू सिंह छुरिया और स्वागत है आपका "THE SONU SINGH" blogsite में, जहाँ आज आप जानेंगे ...... कैसे कर सकते हैं नेताओं की शिकायत ?

बदलते दौर में अब कुछ एप उम्मीदवारों की सुविधा के लिए भी बनाए गए हैं, जिसके जरिए जुलूस, वाहन, कैंप कार्यालय खोलने आदि के लिए मंजूरी ऑनलाइन मिल सकती है.

आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने नई टेक्नोलॉजी की मदद से नियम तोड़ने वाले नेताओं पर नकेल कसने की पूरी तैयारी कर ली है. आने वाले चुनावों में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करना किसी के लिए भी अब आसान नहीं होगा. आयोग ने C-VIGIL नाम का ऐसा ऐप तैयार किया है, जिससे चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार और समर्थक दोनों आसानी से समझ में आ सकेंगे. कुछ ऐप उम्मीदवारों की सुविधा के लिए भी बनाए गए हैं, जिसके जरिए जुलूस, वाहन, कैंप कार्यालय खोलने आदि के लिए मंजूरी भी ऑनलाइन मिल जाएगी. इससे साफ है कि नेताओं को चुनाव अधिकारियों के दफ्तर की परिक्रमा नहीं करनी होगी.

निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए कई एप्स की ली जाएगी मदद

खबर है कि चुनाव आयोग अब इन चुनावों में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन रोकने तथा निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए कई प्रौद्योगिकी एप्स की मदद लेगा. चुनाव आयोग ने आचार संहिता के उल्लंघन के बारे में सूचित करने के लिए लोगों के एंड्रॉएड फोन में 'सी-विजिल' ऐप (C-VIGIL APP) विकसित किया है. चुनाव आयोग ने जारी विज्ञप्ति में कहा है- आचार संहिता उल्लघन की सूचना देर से मिलने से अब तक दोषी सजा से बचते आए हैं. इसके अतिरिक्त तस्वीरें या वीडियो जैसे साक्ष्यों की कमी के चलते शिकायतों की पुष्टि करने में परेशानी भी होती है. विज्ञप्ति में कहा गया है कि ज्यादातर शिकायतें गलत होती हैं.

सी-विजिल ऐप से तुरंत शिकायत कर उनका निवारण भी किया जाएगा

चुनाव आयोग ने कहा, 'सी-विजिल' ऐप से आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायतों का अंतर भरने की उम्मीद है, जिससे तुरंत शिकायत कर उनका निवारण भी किया जा सके. कोई भी व्यक्ति इस ऐप का उपयोग कर मिनटों में आचार संहिता के उल्लंघन की सजीव रिपोर्ट भेज सकेगा. पंजीकृत रिपोर्ट के मामले में इससे संबंधित व्यक्ति के लिए एक विशिष्ट पहचान संख्या जारी होगी, जिससे वह अपने मामले की वर्तमान स्थिति का पता भी लगा सकेगा. अज्ञात शिकायतों को कोई विशिष्ट पहचान संख्या आवंटित नहीं की जाएगी. 'सी-विजिल' ऐप में एक बार शिकायत स्वीकृत होने पर वह जिला नियंत्रण कक्ष में सूचित कर देगा, जो टीम को कार्रवाई का निर्देश देगा.

यह सुविधा एक सिंगल विंडो सिस्टम है

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, मिजोरम और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और चुनाव आयोग वहां राष्ट्रीय शिकायत सेवा, इंटीग्रेटेड कॉन्टैक्ट सेंटर, सुविधा, सुगम, इलैक्शन मॉनीटरिंग डैशबोर्ड और वन वे इलैक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलट जैसे एप्स का उपयोग भी करेगा. चुनाव आयोग ने कहा कि यह सुविधा एक सिंगल विंडो सिस्टम है, जो चुनाव संबंधी अनुमति या मंजूरी 24 घंटों के अंदर प्रदान करता है. उम्मीदवार और राजनीतिक पार्टी इस ऐप के माध्यम से जनसभाओं, बैठकों, जुलूसों, गाड़ियों, अस्थाई चुनाव कार्यालय स्थापित करने और एक स्थान पर लाउडस्पीकर लगाने संबंधित अनुमति ले सकते

SUGGESTION : 
  • बिना वजह और बिना प्रूफ के किसी की शिकायत ना करें, शिकायत तभी करे जब आपको लगता है की यह नियमो के खिलाफ हो रहा है.
नोट :
  • आपको हमारा यह ARTICLE "how can do the leaders complain/ जानिए कैसे करें नेताओं की  शिकायत" कैसा लगा, प्लीज COMMENT करके जरुर बताएं. आपका एक सुझाव हमारी आने वाली अगली ब्लॉग पोस्ट को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट जरुर करें,  अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य लोगों के साथ शेयर जरूर करें ।
    .................... Thanks for visit here.

    How to Start a Labor Supply Business

    Labour Supply Business कैसे शुरू करें

    Labour Supply Business से जुड़े कुछ ऐसे सवाल, जिसके बारे में आज आप सब कुछ जानने वाले है  ......
    • क्या और कैसे होता है Labour Supply Business ?
    • Labour Supply Business के अवसर एवं क्षेत्र कहाँ हैं ?
    • Labour Supply Business के लिए जगह का चुनाव कैसे करे ?
    • क्या जरुरी होता है Labour Supply Business के लिए Startup पंजीकरण ? 
    • अगर होता है तो कहाँ और कैसे करते हैं Labour Supply Business के लिए Startup पंजीकरण ?
    • Labour Supply Business में कितना Profit और कितना Investment होता है ?
    • Labour Supply Business के लिए कोन सी होती हैं महत्वपूर्ण बाते ? 

    अगर आप थोड़ी सी मेहनत करके बहुत सारा profit पाना चाहते हैं तो उसके लिए जानिए Labour Supply Business की महत्वपूर्ण बाते, जो आपके लिए बहुत जरुरी है .....   जानने के लिए पढ़ते रहिये आज का हमारा यह आर्टिकल "Labour Supply Business कैसे शुरू करें"
    यदि ऊपर दिए गए किसी भी प्रश्न के लिए आपका उत्तर हाँ है तो, यह आर्टिकल "Labour Supply Business कैसे शुरू करें" आपके लिए ही लिखा गया है, आज इस आर्टिकल के दुआरा आप Labour Supply Business से जुडी सभी महत्वपूर्ण बातों को जन पायेंगें.

    कृपया ध्यान से पढ़ें और अपने जीवन में सभी चरणों का पालन करें .....

    जानिए, Labour Supply Business कैसे शुरू करें
    नमस्कार मेरा नाम है सोनू सिंह छूरिया और स्वागत है आपका "The sonu singh" Blogsite में, जहाँ आज आप "Labour Supply Business कैसे शुरू करें" सिखने वाले है , तो देर न करते हुए आइये शुरू करते है आज के Topic को .

    Labour Supply Business क्या होता है 


    • क्या आपने कभी Labour Supply Business के बारे में सोचा है की क्यूँ न सारे मजदूरों को एक ही प्लेटफार्म पर ले आये? जब भी किसी ठेकेदार (Contractor) को मजदूरों की ज़रूरत पड़े तो वो आप से संपर्क करें और उसकी ज़रूरत के हिसाब से आप उसे मज़दूर उपलब्ध करवा दें इसके बदले में वो आपको कुछ दक्षणा भी दे|


    • शायद बहुत ही कम लोग इस अद्भुत बिज़नस के बारे में जानते है| यह एसा बिज़नस है जिसे आप बिना किसी निवेश के कहीं भी शुरू कर सकते है|


    • आज हम आपको इस ज़बरदस्त बिज़नस के बारे में विस्तार से बताने वाले है| आगे आने वाले सभी तथ्यों को मन लगा कर पढ़ें हो सकता है की ये बिज़नस आपकी ज़िन्दगी बदल दे|

    Labour Supply Business के अवसर एवं क्षेत्र


    • मौजूदा दौर में हमारे देश में आप कहीं भी चले जाओ हर जगह कंस्ट्रक्शन, बिजली, पेंटिंग, फर्नीचर इत्यादि का कार्य ज़ोरों-शोरों से चल रहा है| न सिर्फ शहरों में बल्कि कस्बों में भी ये सारे काम बड़ी तीव्रता के साथ के साथ फैलते जा रहे है|


    • तो इससे आप अंदाज़ा लगा सकते है की रोजाना हमारे भारत देश में कितने अधिक मजदूरों की आवश्यकता पड़ती होगी|


    • भारतीय जनगणना (2001) एवं इंडियन लेबर ईयर बुक 2011 & 2012 के अनुसार हमारे देश में मजदूरों की संख्या का प्रतिशत कुल जनसँख्या का लगभग 39.1 प्रतिशत है| यानी की लगभग 46 करोड़ लोग हमारे देश में सिर्फ और सिर्फ मजदूरी के ऊपर आश्रित है|


    • अगर इन 46 करोड़ मजदूरों में से आप केवल 100 मजदूरों को ले लें और इनको ले कर Labour Supply Business की शुरुआत करें तो आप आसानी से घर बैठे-बैठे 30 हज़ार रुपये महिना कमा सकते है|


    • ये तो बस शुरुआत है यदि आपने मन लगा कर इस काम को अंजाम दे दिया तो वो दिन दूर नहीं होगा जब लोग आपको लेबर किंग कह कर संबोधित करेंगे जो की बड़े ही सम्मान की बात है|

    Labour Supply Business के लिए जगह का चुनाव


    • Labour Contractor Business शुरू करने के लिए आपको किसी बड़े कस्बे या शहर की और रुख करना होगा| और किसी भी एक एरिया में जहाँ मजदूरों का डेरा लगता हो वहां एक शॉप किराये से लेनी होगी|


    • अगर आप शहरी निवासी है तो ये आपके बिज़नस के लिए प्लस पॉइंट होगा क्योकि वहां मज़दूर व उनके लिए विभिन्न तरीके के काम आसानी से मिल जायेंगे|


    • और अगर आप किसी कस्बे से सम्बन्ध रखते है तो घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है आप वहां भी छोटे स्तर पर यह बिज़नस स्टार्ट कर सकते है|

    Labour Supply Business के लिए Startup पंजीकरण


    • आप इस बिज़नस को बिना रजिस्टर करवाए भी शुरू कर सकते हो लेकिन अगर आपकी मंशा आगे चलकर इस बिज़नस को बड़े लेवल पर करने की है तो इसके लिए आपको अपने कस्बे या शहर की नगर-पालिका/नगर-निगम से ट्रेड लाइसेंस व साथ ही भारत सरकार की और से ज़ारी की जाने वाली उद्योग आधार संख्या के लिए आवेदन करना होगा|


    • इसके अलावा एमएसएमई (MSME-Ministry of Micro, Small and Medium Enterprises) संस्था द्वारा भी पंजीकरण करवा सकते है|

    Labour Supply Business की शुरूआत कैसे करें


    • सबसे पहले आपको आसपास के जितने भी मज़दूर है उनसे संपर्क करना होगा| उन सब को ये विश्वास दिलाना होगा की अगर आप हमारी कंपनी से जुड़ते है तो आपको रोजाना काम मिल जायेगा|


    • मजदूरों की यूनियन बनाने के बारे में उन्हें बताये और इस से होने वाले फ़ायदे भी उन्हें गिनाएं|


    • सभी मजदूरों के नाम, मोबाइल नंबर व पता एक डायरी में मेन्टेन कर के रखें|  मजदूरों से संपर्क करने के बाद ठेकेदारों को अपने बिज़नस के बारे में बताएं|


    • ठेकेदारों को बताएं की हमारे पास हर किस्म के मज़दूर मौजूद है| आपको किसी भी काम जैसे की कंस्ट्रक्शन, बिजली, पानी, पेंटिंग के लिए मज़दूर की ज़रूरत हो आप निःसंकोच हमसे संपर्क करें|


    • ठेकेदारों से आपके कमीशन की भी बात कर ले की आपको हर मज़दूर पर 10 रुपये (जितना आप चाहे घटा व बढ़ा सकते है) देना होगा|


    • ठेकेदारों के अलावा आप शहर में जगह-जगह होर्डिंग्स या बैनर लगा कर लोगो को भी इसके बारे में बता सकते है| और लोगों को ज़रूरत पड़ने पर उनको मज़दूर उपलब्ध करवा सकते है|

     Labour Supply Business में कितना Profit और कितना Investment


    • इस बिज़नस में शुरुआत में आपको बिलकुल भी रुपये खर्च नहीं करने पड़ेगें| सिर्फ दूकान किराये पर लेने के लिए दुकान के मालिक को एडवांस्ड में थोड़े बहुत पैसे देने पड़ेगें|


    • कुल मिलाकर अगर आपके पास केवल बीस हज़ार रुपये भी है तब भी आप इस बिज़नस को अच्छे लेवल पर स्टार्ट कर सकते हो|


    • अगर आप ठेकेदारों को मज़दूर उपलब्ध करवाने के उनसे एक मज़दूर का 10 रुपये भी कमीशन के रूप में उनसे लेते हो तो अगर आपने रोज़ के 100 मज़दूर उपलब्ध करवाए तो आपकी रोजाना की कमाई 10X100 = 1000 रुपये बनती है|


    Example - कमीशन प्रति मज़दूर लाभ प्रति दिन (100 मज़दूर) लाभ प्रति माह (100 मज़दूर)
                             10 रुपये                    10 X 100 = 1000 रुपये         1000 X 30 = 30,000 रूपए

    • आपका PROFIT आपके Comission पर Depand करता है .

    Labour Supply Business के लिए महत्वपूर्ण बाते



    • मजदूरों से ये ज़रूर लिखवा लें की अगर काम करते वक्त उनके साथ कभी कोई हादसा होता है तो उसकी ज़िम्मेदारी आपकी नहीं होगी |
    • उनके हस्ताक्षर करवाना बिलकुल भी न भूले|
    • ठेकेदारों से भी कमीशन का मूल्य हस्ताक्षर सहित पहले ही निर्धारित करवा लें |
    • सभी की Details को किसी NotePad में Note जरुर कर लें.


    सुझाव :
    • अगर आप इस business को करना चाहते है तो आपको लोगो से प्यार से बात करना आना चाहिए, क्योंकि यह एह ऐसा business है जहाँ मीठी बातों से ही लोगो का दिल जीता जा सकता है और ऐसा करने से आप इस business में हमेशा बने रहेंगे .
    नोट :

    • आपको हमारा यह ARTICLE "How to Start a Labor Supply Business / Labour Supply Business कैसे शुरू करें " कैसा लगा, प्लीज COMMENT करके जरुर बताएं. आपका एक सुझाव हमारी आने वाली अगली ब्लॉग पोस्ट को और बेहतर बना सकता है तो कृपया कमेंट जरुर करें, अगर आप ब्लॉग में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो अन्य लोगों के साथ शेयर जरूर करें ।

    .................... Thanks for visit here.





    Monday, 8 October 2018

    How to Make Blogger Blog a Professional

    ब्लॉगर को प्रोफेशनल ब्लॉग कैसे बनाये

    Professional blog से जुड़े कुछ ऐसे सवाल, जिसके बारे में आज आप सब कुछ जानने वाले है  ......

    • Kya aap blogger par professional jaisa blog banana chahte hai ?
    • Kya apne apne blog ki shuruat professional blog ke jaise ki thi ?
    • Kya apka blog professional jaisa nahi lagta ?
    • Blogger or Professional blogger me kya difference hai ?
    • Kya aap bhi chahte hai apne blog ko professional look dena ?
    • Kya aapko professional blog banana nahi aata hai ?
    • Kya apko pta hai, kiski wajah se apka blog professional nahi lagta ?

     Agar apka jawab han hai to Blogger Par Professional blog Kaise Banaye janane ke liye padhte rahiye aaj ka hamara ye article jo apke liye hi likha gya hai.

    so please read carefully and follow all step in your blog ...
    Janiye, Blogger Par Professional blog Kaise Banaye ?
    Namaskar mera naam hai sonu singh chhuriya or swagat hai apka "The sonu singh" blogsite me , jaha aaj aap padh rahe hai blogger par professional blog kaise banaye.

    Janiye, blog-spot or blogger ke bare me

    Blogger – blog ki duniya me blogger.com sabse best or free platform hai. website or blog banane ke liye  , tabhi har new blogger apne blogging career ki shuruat blogger par karta hai.

    sahi jankari na hone ki wajah se Aaj bhi kayi blogger sahi tarah se apna Blog or site nahi bana pate.

    Blogger Platform Ki Advantages

    ek sawal .......??
    agar aap new hain, aur internet par free website banana chahte hain to aapke liye blogger first choice  kyu hai ?


     Blog-spot Blogger 100% Free Hai

    • Blogger 100% free hai. WordPress ka free platform aapko free me Blog banane ki facility deta hai par Blogger jaisi facilty nahi milti, wordpress par aapko hosting leni padti hai perfect site banane ke liye.
    • Blogger par free me ek perfect website bana sakte hain. Jo log bina paisa invest kiye website banana chahte hain unke liye blogger sabse best hai. kuch earn karne ke baad yahan se aap wordpress ya other plate form par shift ho sakte hai.

    Janiye, Blogger ko Professional blog Kaise Banaye

    Blog ko professional look dene ke liye sabse pahle apko domain name set karna hoga, mostly visitor ka dhyaan isi baat par jata hai.
    nut i Recommend to you ....... apne blog ko complete set karne ke baad hi domain ko bye kare otherwise agar visitir hi nahi ayenge to domain bye karne ka kya fayda .

    apke liye kuch tips, jinhe aap follow kar sakte hai ..........

    1. Aap Domain add kar sakte hain

    • Blogger par aap apna custom domain name add kar sakte hain. Blogger ka deafult address www.(yoursite).blogspot.com kuch is tarah hota hai.
    • apna domane lene ke baad Aap blogspot ko remove karke apna address set kar sakte hain.

    2. SEO optimization Settings

    • SEO (search engine optimization) ki sabhi features  blogger par available hain. but Kuch wordpress users aisa bhi sochte hain ki Blogger SEO ke liye better nahi hai.
    • Par aaj blogger par SEO ke liye sabhi options available hain. Abhi-abhi Google ne Custom Robots header tag feature launch ki hai.
    • Matlab ki Google regular blogger ko user-friendly banane ke liye usme tweaks karta rahta hai.

    3. Simple Post Editor

    • Blogger ka simple post editor kisi bhi new user ke liye samajhna bahut easy hai.
    • Formatting karne ke liye wo sabhi options available hain jo wordpress post editor me available hote hain.

    4. Custom Theme install kare

    • kya Aap blogger ki default theme use nahi karna chahte?
    • Aap koi bhi free or premium Blogger theme apne blog me set kar sakte hain, iske liye koi limitation nahi hai. Premium theme aap kayi sites se just Rs.700 me purchase kar sakte hain.

    5. Custom Widget Add kare

    • Blogger par kayi custom widget available hain jo aap apne site me add kar sakte hain.
    • Recent post, popular post, contact form, feature post aise kayi free widget available hain jo aap install kar sakte hain or apne blog ko professional look de sakte hai.

    6. CSS support

    • Blogger CSS support karta hai aur aap kayi tarah ki new CSS styles and widget apne blog me add kar sakte hain.
    • Agar apko css ki knowledge nahi hai to css coding ko copy bhi kar sakte hai.

    7. Adsense compatible

    • Apne Blog se paisa kamana chahte hain, ji ha blogger fully adsense optimized hai.
    • Aap apne blog par adsense ke liye apply kar sakte hain aur ads apne Blog me add show kar ke  paisa kama sakte hain.

    8. Full Security

    • Blogger- Google owned hosted platform hai isliye aapko apne blog ki security ki koi tension nahi rahti.

    9. 15 GB Storage Free

    • Blogger par aapko 15GB Free storage provide kiya jata hai jo kisi bhi user ke liye enough hai site run karne ke liye.

    SUGGESTION : 


    • Agar aap in sab steps ko follow karke apne blog ko create or edit karte hai to 100% apka blog professional blog ki tarah ki show hone lagega.


    NOTE :

    • Agar aap ke man me Professional blog se related koi sawal ya sujhav hai to please hame comment jarur kare. apka feedback jankar hame khushi hogi, 
    • Apko hamara yah article "How to Make Blogger Blog a Professional" kaisa laga please comment karke jarur batayen.
    • If you like and want to tell others about this, so please share our article "How to Make Blogger Blog a Professional"
    SUBSCRIBE कीजिये "THE SONU SINGH" solution guide को, और पाइए अपने हर सवाल का सही जवाब ..

    Thanks for visit here ........ !!

    Friday, 5 October 2018

    How to Create a Blog Post Interesting

    कैसे बनांये ब्लॉग पोस्ट को इंटरेस्टिंग 

    Blog Post से जुड़े कुछ ऐसे सवाल, जिसके बारे में आज आप सब कुछ जानने वाले है  ......
    • Blog Post को इंटरेस्टिंग कैसे बनाते हैं ?
    • Perfect Title कैसे लिखते हैं ?
    • Post Introduction क्या होता है और इसे कैसे लिखते हैं ?
    • Blog Post लिखने का तरीका कैसा होना चाहिए ?
    • क्यूँ और किसके लिए लिखें Blog Post ?
    • Heading का use कब और कहाँ करना चाहिए ?
    • Reader's को अपनी Blog Post पढने के लिए बाध्य कैसे करें ?
    • Blog Post लिखने की महतवपूर्ण बातें ( क्या करें और क्या न करें )........
    Kya aap bhi likhna chahte hai aisi blog post jise readers bina padhe rah na sake. lekin kya aap un chijon ke baare me jante hai jinhe ek successful blogger apni blog post me use karta hai ?
    agar nahi jante hai to aaj hum apko apne is article ke through ye sari bate batayenge ki aap bhi apni blog post ko interesting kaise bana sakte hai.
    JANIYE, BLOG POST KO INTERESTING BANANE KE STEP
    Namskaar Dosto, mera naam hai sonu singh chhuriya or swagat hai apka The sonu singh Blogsite me. jahan aaj aap blog post ko interesting banane ke step sikhne wale hai.to der na karte hue, aaiye shuru karte hai aaj ke topic ko.

    dosto blog ki dunya me har koi chahta hai ki wo ek successful blogger bane lekin knowledge ki kami hone ki wajah se new bloggers starting me hi galtiyan karne lagte hai, jiske kaaran wo bl;og ko chhodne ka decision lene tak ki soch lete hai.
    Maine aise kai bloggers ko dekha hai, jo apne blog me aisi post likhte hai, jinko koi visitor read karta hai to wo unki samjh se bahar hoti hai, aise me wo visitor us blog ki kisi bhi post par dubara kabhi nahi jata. jiski wajah se visiter ke mind me unke blog ka impression down hone lagta hai.

    Dhyaan rahe - agar apne apne blog ko bahut achhe se design kiya hai, uske baad bhi visitor us par visit nahi kar rahe hai to kahin na kahin apne galti ki hai. apni galti ko pahchane or use jaldi se jaldi dur karne ki koshish kare.
    aisa na karne se, aap chahe kitna bhi best design apne blog ko do, agar usme visitor hi nahi ayenge to uska kya fayda.

    BLOG POST KO INTERESTING KAISE BANAYE

    Koi kitna bhi achha blogger kyun na ho, lekin jab koi blogging ki shuruat karta hai to use blogging ki sabhi skill ke baare me nahi pata hota hai. jiski wajah se shuruat me bahut kam visitor uske blog par visit karte hai, lekin jab wo blogger successful ban jata hai to uske blog par lakho visiter increase ho jate hai.

    1. PERFECT TITLE 

    • Post ko likhna shuru karn se pahle hme use post koi ek naam dena hota hai, post ke us naam ko hi post ka title kaha jata hai.
    • ji ha dosto apki blog post ka title hi sabse pahle padha jata hai, usi se readers attractive hota hai post ko padhne ke liye. agar apki post ka title hi perfect nahi hoga to visitor apki post ko ignor kar deta hai. aise me koi bhi visitor apke blog par visit nahi karega. apki post ke title me aisa waisa na likh kar sirf attractive keywords par hi focus kare.
    • iske liye aap apni post ko koi bhi title dene se pahle us title ke bare me google par search kar sakte hai. uske baad aap un keywords par focus kare jin words se readers jyada attractive hote hai. 
    • focus keywords se matlab title ki similar words se hai. jin title keywords ko kai posts me baar baar use kiya gya ho. 
    • aap apni post ke title me thoda sa sequence rakhe, jiski wajah se visitor us sequence ko janne ke liye apki post par visit jarur karega.
    • blog post title ko aap chahe hindi me likhe ya english me bas dhyan rahe  post ke title me spelling mistake nahi honi chahiye.kyunki aisi post par readers kam hi visit karte hai.


    2. POST INTRODUCTION 

    • Jaise hi aap post likhna start karte hai to sabse pahle apni post ke baare me visitor ko bataye ki apki post se visitor ko kya sikhne ko milega.
    • Dosto apne kai baar dekha hoga ki bahut se blogger starting me hi apni post ke baare me sab kuch batane ki koshish karte hai jo ki successful blogger banane ka tarika bilkul nahi hai. aisa karne se aksar readers ko kuch bhi samajh nahi aata hai or wo apki post ko jaldi hi chhod kar chala jata hai.
    • aap apni post ko step by step batane ki koshish kare ki aap ne wo post kis ke baare me likhi hai,, apko is post me kya padhne ko milega, aap is post se kya sikh sakte hai.
    • post ka intro bahut hi iteresting hona chahiye, sab kuch sahi or clear hona chahiye.
    • aap jo bhi post likhte hai usme kosish kare ki wo readers ko practical lage. jisse readers ko pata lag sake ki haa ye sahi post hai uske solution ke liye.

    3. SHORT AND POINT WISE PARAGRAPH 

    • Aapne dekha hoga ki successful bloggers kisi bhi baat ko samjhane ke liye short and pint wise paragraph hi use karte hai, wo bato ko jyada badha chadha kar batane ki koshish nahi karte hai.
    • aisa karna galat bhi hai, kyunki aisa karne se readers ki smajh me kuch nahi aata hai 
    • jab bhi aap post likhe to kam se kam words me readers ko samjhane ki koshish kare, magar paragraph bilkul clear samjh me aana chahiye.
    • aap jitna achha pragraph banayenge utna hi visitor apki post se attractic honge, or judte rahenge.
    • jis tarah apko bade paragraph likhne me boring lagte hai, usi tarah readres ko bhi bade paragraph padhne me boring lagte hai.

    4. WRITE FOR VISITOR

    • Jis post ko visitor ko dhyaan me rakh kar likha jata hai us post par visitor bhi jaldi aate hai or google bhi aisi post ko top par show karta hai jis post par jayada visityor hote hai. kyunki google ko bhi lagta hai ki us post me high quality content hai.
    • agar readers ko apki koi post jyada pasand aati hai to wo use share bhi karte hai. aisa karne se visitor ka aap par bharosa ban jata hai. or unke through or bhi visiter apke blog par aane lagte hai.
    • apni post me SEO ka bhi achhe se use kare. jisse apke blog ko google me top rank milne me aasani hogi.
    • apni posot me baat ko samjhane ke liye example jarur de, kyunki kisi baat ko jaldi samjhane ke liye example dena bahut jaruri hai. is se jaldi sabko smjh aata hai.

    5. USE HEADING AND POST LENGTH 

    • Dosto agar aap koi aisi post padh rahe ho jisme headings or sub headings ka use hi na kiya gya ho to apko kaisa lagega. 
    • wo post chahe jitni bhi achhi kyun na ho lekin bina headings ke wo aisi lagegi jaise koi cheating karne ka page bana diya ho.
    • apni sabhi post me heading or subheadings ka use jarir kare, aisa karne se apke blog ki post bahut hi shandar lagti hai, or readers ki samjh me bhi asani hoti hai.
    • post ke baare me jitni jarurat ho utna hi bataye, jyada likh kar post ko lamba or boring na banaye.

    6. VISITOR KO MOTIVATE KARE 

    • Dear friends agar aap apne visitor ko apne blog se bor nahi hone dena chahte hai to post me aise words or line ko write kare jis se readers sikhne ke sath sath motivate bhi hote rahe.
    • jiski wajah se readers ko jab bhi kuch sikhna hoga ya uske pass free time hoga wo apke blog par jarur visit karega.
    • apko pata hoga ki bahut se log aise videos dekhna pasand karte hai, jo unhe perfectly motivate karte hai. like - sandeep maheshwari or vivek bindra. ye dono hi aise speaker hai jinhe har koi sunna chahta hai.

    7. QUESTION KARE

    • Agar aap apne visitor se connect hona chahte hai to apni post ke according visitor se question bhi karte rahe 
    • agar apke visitor loyal hai to wo apko uska jawab bhi denge.
    • apni post ke liye feedback or suggestion bhi mang sakte hai.
    • kisi se bhi judne ke liye unke sath baat karna bahut jaruri hota hai.

    8. DON'T COPY 

    • Dear friends Kabhi bhi kisi ki copy na kare, agar aap copy karnge to dusro se pichhe hi rahenge 
    • kya aap chahte hai ki aap hamesha dusro ke piche chalte rahe.
    • khud ko agar successful banana chahte ho to kuch aisa likho ke log apko copy kare.

    SUGGESTION  : 

    • jab bhi aap koi post likhe to khud ko dhyaan me rakh kar likhe qk jin chijon ko aap khud pasand nahi karte unhe koi bhi visitor kaise pasand karga.
    • kisi bhi post ko aise likhe, jaise ki wo post kisi or ke through apke liye likhi gayi hai.

    NOTE

    • Hamara yah article "How to Create a Blog Post Interesting" apko kaisa laga ? Comment box ke jariye hame apna feedback jarur de. Hame apka feedback jankar khushi hogi. 
    • Agar aap ke man me "How to Create a Blog Post Interesting" se related koi sawaal hai to Aap niche comment box me comment karake sawal puchh sakate hai.
    • Agar aap chahte hain ki hum apke liye isi tarah post likhte rahen to hamari post ko social media par share jarur karen "How to Create a Blog Post Interesting"
    SUBSCRIBE कीजिये "THE SONU SINGH" solution guide को, और पाइए अपने हर सवाल का सही जवाब .

    THANK'S FOR VISIT HERE .... !!  






    HOT DEALS

    Connect with us for Better Result


    Advisor
    सुखी जीवन और सफल व्यवसाय प्राप्त करें

    क्या आप बेहतर बिजनेस और बेहतर लाइफ की तलाश में हैं ?

    शुरुआती शुल्क Rs.500 सम्पर्क करें
    Advertisement Maker
    सफलता का पहला कदम

    क्या आप अपने व्यापार से और भी बेह्टर परिणाम चाहते हैं ?

    शुरुआती शुल्क Rs.500 सम्पर्क करें
    Script Writer
    नयी सोच , नयी दिशा की ओर

    क्या आप अपनी नयी विडियो के लिए स्क्रिप्ट की तलाश में हैं ?

    शुरुआती शुल्क Rs. 500 सम्पर्क करें
    Tagline and Slogan
    आपकी अपनी पहचान

    क्या आप दुनिया की नजरो में अपने व्यापार को प्रसिद्ध करना चाहते हैं

    शुरुआती शुल्क Rs. 500 सम्पर्क करें

    Contact Us


    The sonusingh
    PROBLEM SHOOTER
    Ask and Discuss

    9716-61-6890
    greensolution076@gmail.com

    Interested for our works and services?
    Get more of our update !

    Welcome to the sonu singh!
    -